Government News : महिलाओं को मनरेगा में काम नहीं मिलने पर देगी 4,000 रुपये, ऐसे उठाये लाभ

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Jambhsar Media, New Delhi : मनरेगा योजना शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा करती है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा एक वयस्क व्यक्ति को 100 दिन का रोजगार प्रदान किया जाता है। इसमें विशेषकर महिलाओं को प्राथमिकता दी जाती है।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Join Now

ऐसे में इस योजना से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को लाभ मिल रहा है. लेकिन गर्मी में तापमान बढ़ने पर रोजगार कम हो जाता है। ऐसे में ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक नुकसान होता है। इस समय उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से भारतीय कृषि बीमा कंपनी ने एक बहुत अच्छा बीमा कवर लॉन्च किया है।

इस बीमा पॉलिसी के तहत ग्रामीण महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। लेकिन यह सहायता केवल एक निश्चित अवधि के लिए ही दी जाएगी यानी जब गर्मी के मौसम के कारण महिलाओं को मनरेगा में काम नहीं मिल पाएगा, तब यह बीमा कवर उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करेगा। जो महिलाएं मनरेगा से जुड़ी हैं और इस बीमा कवर का लाभ लेना चाहती हैं, उन्हें इसके लिए आवेदन करना होगा और कुछ प्रीमियम भी देना होगा। इसके बाद यदि उन्हें रोजगार नहीं मिलता है तो उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

भारतीय कृषि बीमा कंपनी (एआईसी) ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2024 के अवसर पर सरल कृषि बीमा के तहत गृहलक्ष्मी आय सुरक्षा योजना नामक एक हीट इंडेक्स कवर लॉन्च किया है, जो निर्धारित दर से अधिक तापमान होने पर मनरेगा महिला श्रमिकों को कवर प्रदान करेगा। आर्थिक सहायता प्रदान करेंगे। यह एक प्रकार की बीमा योजना है जिसका लाभ उन ग्रामीण महिलाओं को मिलेगा जिनका ग्रामीण रोजगार निर्धारित दर से अधिक तापमान के कारण प्रभावित होगा।

आपको बता दें कि एग्रीकल्चरल इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया (एआईसी) भारत की एक सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनी है जिसकी शुरुआत 2003 में हुई थी। वर्तमान में यह बीमा कंपनी विभिन्न फसल बीमा योजनाओं और उत्पादों के तहत करोड़ों किसानों को कवर करती है। यह भारत के लगभग 500 जिलों में उत्पादन आधारित और मौसम आधारित फसल बीमा का लाभ प्रदान कर रहा है।

महात्मा गांधी नरेगा महिला श्रमिकों को भारतीय कृषि बीमा कंपनी (एआईसी) की गृहलक्ष्मी आय सुरक्षा योजना में कुछ प्रीमियम भी जमा करना होगा। इस योजना के तहत बीमा कवर पाने के लिए ग्रामीण महिलाओं को केवल 200 रुपये का प्रीमियम जमा करना होगा। इस प्रीमियम में जीएसटी भी जोड़ा गया है। ऐसे में महिलाएं कुल 200 रुपये का प्रीमियम देकर 4,000 रुपये तक की वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकती हैं।

लाभार्थी महात्मा गांधी नरेगा महिला श्रमिकों को भारतीय कृषि बीमा कंपनी (एआईसी) की गृहलक्ष्मी आय सुरक्षा योजना के तहत अधिकतम 4,000 रुपये तक की वित्तीय सहायता मिलेगी। इसमें न्यूनतम 200 रुपये और अधिकतम 4,000 रुपये तक की वित्तीय सहायता दी जा सकती है। ध्यान देने वाली बात यह है कि इस योजना या पॉलिसी में बीमा कवर का लाभ केवल 16 मार्च से 15 जून 2024 तक की अवधि के दौरान दिया जाएगा। यदि आपको अन्य अवधि के दौरान रोजगार नहीं मिलता है, तो आप इससे कवर नहीं प्राप्त कर पाएंगे।

जो महिलाएं एग्रीकल्चरल इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया (एआईसी) की गृहलक्ष्मी आय सुरक्षा योजना का लाभ लेना चाहती हैं, उनके पास मनरेगा जॉब कार्ड होना जरूरी है। इसके अलावा आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक खाता विवरण आदि दस्तावेज आवश्यक हैं। इसलिए आपको योजना के लिए आवेदन करते समय इन दस्तावेजों को अपने पास रखना चाहिए।

 यदि आप भारतीय कृषि बीमा कंपनी (एआईसी) की गृहलक्ष्मी आय सुरक्षा योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आप इस बीमा प्रदाता कंपनी के एजेंट से संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप कंपनी कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं। बीमा कवर से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप एआईसी की वेबसाइट पर जा सकते हैं। आप भारतीय कृषि बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Share This Post

Rameshwari Bishnoi

Rameshwari Bishnoi

Leave a Comment

Trending Posts

और भी