New Railway Line: राजस्थान के इस जिले का वर्षों पुराना नई रेलवे लाइन का सपना होगा पूरा, बजट हुआ स्वीकृत

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Jambhsar Media News Digital Desk नई दिल्‍ली: राजस्थान के अजमेर जिले  को मिली बड़ी सौगात बिछाई जाएगी नई रेल लाइन सेक्शन तीन के तहत नई रेल लाइन बिछाने के लिए 200 करोड़ 3 लाख रुपए का बजट आवंटित हुआ है। इस बजट में अब टोंक जिले का वर्षों पुराना सपना पूरा होने वाला है। रेल बजट के बाद टोंक रेलवे लाइन से अजमेर और सवाई माधोपुर से सीधा जुड़ जाएगा। इसके अलावा पुष्कर- मेड़ता, अजमेर-कोटा और अजमेर-सवाई माधोपुर वाया टोंक रेल लाइन बिछाने के लिए बजट भी शामिल किया गया है।

अजमेर रेलवे मंडल के जनसंपर्क अधिकारी अशोक चौहान से ‘नवभारत टाइम्स (NBT) राजस्थान के रिपोर्टर मनीष बागड़ी’ ने फोन पर वार्ता की। इसमें उन्होंने बताया कि अजमेर मंडल को तीन सेक्शन में नई रेल लाइन बिछाने के लिए 200 करोड़ 3 लाख का बजट आवंटित हुआ है। इसमें अजमेर-मेड़ता के बीच 59 किलोमीटर ट्रैक के लिए 50 करोड़ 1 लाख रुपए, अजमेर-कोटा के लिए वाया नसीराबाद, जलन्धरी के बीच 145 किलोमीटर लंबे ट्रैक के लिए 50 करोड़ 1 लाख रुपए और अजमेर-सवाई माधोपुर वाया टोंक के लिए नसीराबाद-सवाई माधोपुर के बीच 165 किलोमीटर लंबी रेल लाइन बिछाने के लिए 100 करोड़ 1 लाख का बजट मिला है।

WhatsApp Group Join Now

टोंक रेलवे लाइन से अभी तक महरूम है। इसको लेकर लगातार टोंक को रेलवे लाइन से जोड़े जाने की मांग पिछले काफी वर्षों से उठाई जा रही है। नई रेल बजट की घोषणा के बाद अब टोंक का यह सपना पूरा होना जा रहा है। इसके तहत अजमेर-सवाई माधोपुर रेलवे लाइन में टोंक भी जुड़ेगा। इसके बाद टोंक की कनेक्टिविटी रेलवे लाइन से हो जाएगी। बता दें कि काफी वर्षों से रेलवे लाइन से टोंक को जोड़ने के लिए आंदोलन किए गए। लेकिन राजनीति की भेंट चढ़ने के कारण टोंक रेलवे लाइन से वंचित रहा।

अजमेर से कोटा के बीच डायरेक्ट रेलवे लाइन नहीं है। इसके कारण अजमेर से कोटा के बीच के लिए वाया चित्तौड़गढ़ होकर ट्रेन चलती है। जिसमें अधिक दूरी और समय भी अधिक लगता है। लेकिन अब नई रेल लाइन बिछ जाने के बाद अजमेर-कोटा आपस में सीधे रेलवे लाइन से जुड़ जाएंगे। जो वाया नसीराबाद जलन्धरी से होते हुए रेल लाइन निकलेगी। इससे अजमेर कोटा के बीच की दूरी और समय भी घटेगा।

प्रस्तावित अजमेर-कोटा नई रेल परियोजना के तहत लोहरवाड़ा, जसवंतपुरा, सराणा, गोयला, सरवाड़, सूरजपुरा, कालेड़ा कृष्णा गोपाल, बाजटा, देवली, लुहारीकलां, गोकुलपुरा, नरवा, मोतीपुरा, जलंधरी सहित 15 रेलवे स्टेशन हो सकते हैं। इन स्टेशनों पर यात्रियों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी। इस दौरान 14 रेल यार्ड बनाए जाएंगे। जनसंपर्क अधिकारी अशोक चौहान ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में नई रेलवे लाइन में कौन-कौन से रेलवे स्टेशन होंगे। इसके संबंध में विस्तार से जानकारी आने के बाद ही कुछ बताया जा सकेगा।

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Share This Post

Rameshwari Bishnoi

Rameshwari Bishnoi

Leave a Comment

Trending Posts