Post Office की ये धांसू स्कीम आपको कर देगी मालामाल, हर महीने होगी 20000 रुपये की कमाई 

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Jambhsar Media News Digital Desk नई दिल्‍ली : हर व्‍यक्ति अपनी बचत ऐसी जगह लगाना चाहता है जहां से उसे अच्‍छा-खासा रिटर्न तो मिले ही साथ ही उसका पैसा भी सुरक्षित रहे. अगर आपकी चाहत भी कुछ ऐसी ही है तो फिर आपको आपको पोस्‍ट ऑफिस द्वारा चलाई जाने वाली इस स्कीम में पैसा लगाना चाहिए, आपको बता दे कि इस बचत योजना में निवेश पर टैक्‍स छूट भी मिलती है, आइए खबर में जानते है Post Office की इस स्कीम के बारे में विस्तार से।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Join Now

हर कोई अपनी गाढ़ी कमाई में से कुछ न कुछ बचत (Savings) करके ऐसी जगह इन्वेस्ट (Investment) करना चाहता है, जहां पर उसका पैसा सुरक्षित तो रहे है, बल्कि रिटर्न भी शानदार मिले. वहीं कुछ लोग ये सोचकर निवेश शुरू करते हैं कि बुजुर्गावस्था में एक नियमित आय (Reguler Income) होती रहे, जिससे कि आर्थिक परेशानियों का सामना न करना पड़े. इन मामलों में पोस्ट ऑफिस द्वारा संचालित तमाम सेविंग स्कीम्स खासी लोकप्रिय हो रही है. इनमें एक है पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Post Office SCSS Scheme), जो खासतौर पर वरिष्ठ नागरिकों के लिए है और इसमें निवेश पर 8 फीसदी से ज्यादा का सालाना ब्याज मिल रहा है यानी बैंक एफडी से भी ज्यादा.

Post Office में हर आयु वर्ग के लिए अलग-अलग कैटेगरी में स्माल सेविंग्स स्कीम्स चलाई जा रही हैं, जिसमें सुरक्षित निवेश की गारंटी खुद सरकार देती है. पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम की बात करें तो इसमें तमाम बैंकों में एफडी (Bank FD) की तुलना ब्याज तो ज्यादा मिलता ही है, बल्कि इसमें नियमित आय भी पक्की हो जाती है और इसमें निवेश करके 20,000 रुपये महीने तक की कमाई की जा सकती है. POSSC में मिलने वाले इंटरेस्ट रेट की बात करें, तो सरकार की ओर से 1 जनवरी 2024 से इसमें निवेश करने वालों को शानदार 8.2 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें:  प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि भारत बहुत जल्द अर्थव्यवस्था में अमेरिका को पछाड़ देगा।

रेगुलर इनकम, सुरक्षित निवेश और टैक्स छूट (Tax Benefits) के लिहाज से भी Post Office Senior Citizen Savings Scheme पोस्ट ऑफिस की सबसे फेवरेट स्कीम्स की लिस्ट में शामिल है. इसमें अकाउंट खुलवाकर आप मिनिमम 1,000 रुपये से निवेश शुरू कर सकते हैं. वहीं इस सीनियर सिटीजंस सेविंग स्कीम में अधिकतम निवेश की सीमा 30 लाख रुपये तय की गई है. रिटायरमेंट के बाद आर्थिक रूप से समृद्ध रहने में ये पोस्ट ऑफिस स्कीम बेहद मददगार साबित हो सकती है. इसमें 60 साल या उससे अधिक आयु के किसी भी व्यक्ति या पति/पत्नी के साथ ज्वाइंट अकाउंट खोला जा सकता है.

Post Office Senior Citizen Scheme में निवेश करने वाले को 5 साल के लिए निवेश करना होता है. वहीं अगर इस अकाउंट को इस अवधि से पहले बंद किया जाता है, तो नियमों के मुताबिक खाताधारक को पेनल्टी देनी होती है. आप किसी भी नजदीकी डाकघर में जाकर अपनी SCSS अकाउंट आसानी से खुलवा सकते हैं. इस स्कीम के तहत कुछ मामलों में उम्र सीमा में छूट भी दी गई है. जैसे VRS लेने वाले व्यक्ति की उम्र खाता खुलवाते समय 55 साल से अधिक और 60 साल से कम हो सकती है, वहीं डिफेंस से रिटायर हुए कर्मचारी 50 साल से अधिक और 60 साल से कम उम्र में निवेश कर सकते हैं, हालांकि, इसके लिए कुछ शर्तें भी लगाई गई हैं.

यह भी पढ़ें:  IAS Puja Khedkar: रस्सी जल गई पर बल नहीं गया; जानिए मैडम के नए कारनामे

एक ओर जहां पोस्ट ऑफिस सीनियर सीटीजन सेविंग स्कीम पर 8.2 फीसदी का ब्याज ऑफर किया जा रहा है, तो वहीं देश के तमाम बैंक सीनियर सिटीजन को इसी अवधि यानी 5 साल की एफडी (FD) कराने पर 7.00 से 7.75 फीसदी तक ब्याज की ही पेशकश कर रहे हैं. बैंकों के FD Rates पर नजर डालें, तो देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई (SBI) वरिष्ठ नागरिकों को पांच साल की एफडी पर 7.50 फीसदी, आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) 7.50 फीसदी, पंजब नेशनल बैंक (PNB) 7 फीसदी और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) 7.50 फीसदी का सालाना ब्याज दे रहा है. 

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में खाताधारक को टैक्स छूट का लाभ (Tax Benefits) भी मिलते हैं. SCSS में निवेश करने वाले व्यक्ति को इसमें आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक की सालाना टैक्स छूट दी जाती है. इस स्कीम में ब्याज राशि का पेमेंट हर तीन महीने में किए जाने का प्रावधान है. इसमें ब्याज प्रत्येक अप्रैल, जुलाई, अक्टूबर और जनवरी महीने की पहली तारीख को किया जाता है. अगर मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने से पहले खाताधारक के साथ की मृत्यु हो जाती है, तो फिर अकाउंट क्लोज कर दिया जाता है और इसकी सारी रकम दस्तावेजों में दर्ज नॉमिनी को सौंप दी जाती है.

यह भी पढ़ें:  IAS Puja Khedkar: रस्सी जल गई पर बल नहीं गया; जानिए मैडम के नए कारनामे

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि इस सरकारी स्कीम में निवेशक महज 1000 रुपये निवेश शुरू कर सकता है और इसमें अधिकतम 30 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है. जमा राशि 1000 के मल्टीपल्स में तय की जाती है. अब इस योजना से नियमित 20000 रुपये की कमाई के कैलकुलेशन को देखें तो 8.2 फीसदी ब्याज के हिसाब से अगर कोई व्यक्ति लगभग 30 लाख रुपये का निवेश करता है, तो उसे 2.46 लाख रुपये का वार्षिक ब्याज मिलेगा और इस ब्याज को महीने के हिसाब से देखें तो करीब 20,000 रुपये मासिक होता है.

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Share This Post

Rameshwari Bishnoi

Rameshwari Bishnoi

Leave a Comment

Trending Posts

और भी