Wheat Price : गेहूं के दाम में अचानक आई तेजी, किसानों के चेहरे पर ख़ुशी का ठिकाना नहीं, जानिए ताज़ा मंडी भाव

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Jambhsar Media, New Delhi : उपभोक्ता मामले मंत्रालय के प्राइस मॉनिटरिंग डिवीजन के अनुसार देश में 17 मार्च को गेहूं का औसत दाम 30.88 रुपये प्रति किलो रहा. अधिकतम दाम 54, न्यूचनतम 21 और मॉडल प्राइस 25 रुपये प्रति किलो रहा. दिल्ली में गेहूं का रिटेल प्राइस 29 रुपये प्रति किलो रहा. जबकि एमएसपी 2275 रुपये प्रति क्विंटल है.

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Join Now

गेहूं की सरकारी खरीद नजदीक आने के बावजूद अभी तक इसका दाम कम नहीं हुआ है. गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) 2275 रुपये प्रति क्विंटल तय किया गया है जबकि खुले बाजार में अभी इसका भाव 2400 से 2500 रुपये प्रति क्विंटल है. राष्ट्रीय कृषि बाजार (e-NAM) के अनुसार उत्तर प्रदेश की अधिकांश मंडियों में गेहूं का दाम एमएसपी से ज्यादा है.

ऐसे में उम्मीद यही है कि किसान सरकार की बजाय इस साल भी प्राइवेट सेक्टर को गेहूं बेचना पसंद करेंगे. उत्तर प्रदेश गेहूं का सबसे बड़ा उत्पा्दक है, लेकिन 2022 के बाद से दाम एमएसपी से अधिक रहने की वजह से यहां पर सरकारी खरीद काफी कम हुई है. वर्तमान दाम को देखते हुए इस बार भी कम सरकारी खरीद का अनुमान लगाया जा रहा है.

केंद्र सरकार गेहूं का दाम कम करने के लिए ओपन मार्केट सेल स्कीम (OMSS) के तहत मिलर्स और निजी क्षेत्र को बाजार से सस्ते रेट पर गेहूं बेच रही है. इस स्कीम के तहत 60 लाख टन से अधिक गेहूं सस्ते दर पर बेचा जा चुका है, लेकिन अब तक रिटेल में गेहूं के भाव और आटा के दाम पर इस स्कीम का कोई खास असर नहीं दिखाई दे रहा है. इसके अलावा 13 मई 2022 से ही गेहूं के एक्सपोर्ट पर भी बैन लगा हुआ है, ताकि भाव कम हो जाए. सरकार के इन दोनों फैसलों से किसानों को नुकसान पहुंचा है. किसानों को नुकसान पहुंचाने के बावजूद उपभोक्ताओं को न सस्ता गेहूं मिल रहा है और न आटा.

उपभोक्ता मामले मंत्रालय के प्राइस मॉनिटरिंग डिवीजन के अनुसार देश में 17 मार्च को गेहूं का औसत दाम 30.88 रुपये प्रति किलो रहा. अधिकतम दाम 54, न्यूचनतम 21 और मॉडल प्राइस 25 रुपये प्रति किलो रहा. दिल्ली में गेहूं का रिटेल प्राइस 29 रुपये प्रति किलो रहा. गुजरात में 40 रुपये प्रति किलो दाम रहा. मध्यं प्रदेश में 28.25 और महाराष्ट्र में 39.47 रुपये प्रति किलो दाम है. हरियाणा प्रमुख गेहूं उत्पादक है लेकिन यहां पर रिटेल प्राइस 26 रुपये प्रति किलो है. ऐसे में उम्मीद है कि इस बार में पर्याप्त सरकारी खरीद नहीं हो पाएगी. पिछले साल सरकार ने 341.5 लाख टन गेहूं खरीदने का लक्ष्य  रखा था, जबकि 262 लाख टन की ही खरीद हो सकी थी. सरकार ने साल 2024-25 में गेहूं खरीद का लक्ष्य 320 लाख टन तय किया गया है.

केंद्र सरकार के अधीन आने वाले ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफार्म राष्ट्रीय कृषि बाजार (e-NAM) के अनुसार 17 मार्च को उत्तर प्रदेश की कासगंज मंडी में न्यू नतम दाम 2,500 और अधिकतम दाम 2,510 रुपये प्रति क्विंटल रहा. जालौन जिले की कोंच मंडी में गेहूं का न्यूनतम दाम 2,402 रुपये प्रति क्विंटल रहा. जबकि जालौन मंडी में 2,421 रुपये दाम रहा. राजस्थान की मालपुरा मंडी में गेहूं का दाम 2,445 रुपये प्रति क्विंटल रहा.  

हमारा व्हाट्सएप चैनल जॉइन करें: Click Here

Share This Post

Rameshwari Bishnoi

Rameshwari Bishnoi

Leave a Comment

Trending Posts

और भी